होमकृषिइस मौसम में किसान को इन सब्जियों की खेती करनी चाहिए

इस मौसम में किसान को इन सब्जियों की खेती करनी चाहिए

किसान इस वक्त मौसम को ध्यान में रखकर खेती करें तो अच्छा रहेगा, मानसून ने दस्तक दे दी है ऐसी स्थिति में किसान को इस बात का विशेष ध्यान रखना होगा कि उसको किस चीज की खेती करनी चाहिए,आइए आज हम आपको बताते हैं कि इस वक्त किसान को किन किन चीजों की खेती करनी चाहिए, इस मौसम में सब्जियों की खेती (Vegetable Farming ) करके किसान ज्यादा लाभ कमा सकते हैं । सब्जियों में खीरा,ककड़ी,लोबिया,करेला,लौकी,तुरई,भिंडी,टमाटर के साथ-साथ चौलाई की भी खेती कर सकते हैं ।

टमाटर (Tomato) पर बीते दिनों में गर्मी के कारण बहुत बुरा प्रभाव पड़ा नतीजा यह हुआ कि टमाटर के भाव दिन प्रतिदिन बढ़ते चले गए, वर्तमान समय में टमाटर की खेती अच्छे से करके किसान बहुत लाभ कमा सकता है, इसके लिए पाली हाउस तकनीक का इस्तेमाल किया जा सकता है, पाली हाउस तकनीक पर मौसम का बहुत असर नहीं होता ऐसी स्थिति में फसल को नुकसान पहुंचाने की संभावना कम हो जाती है किसान चाहे तो पूसा-120, पूसा रूबी, पूसा गौरव देसी टमाटर की खेती कर सकते हैं, इसके साथ ही हाइब्रिड किस्म में रश्मि और अविनाश-2 की किस्में अच्छा उत्पादन दे सकते हैं । चौलाई खरीफ सीजन के प्रमुख नकदी फसल है, जिसका बारिश के मौसम में भी अच्छा उत्पादन मिल सकता है, चौलाई एक औषधि फसल भी है जिसके जड़ से लेकर तना पत्ती डंठल का प्रयोग दवाई बनाने में होता है, इसलिए इस वक्त इसकी बुवाई से अच्छी पैदावार प्राप्त की जा सकती है । चौलाई की मुख्य किस्में जैसे अन्नपूर्णा, सुवर्णा, कपिलास, पूसा लाल की खेती कर सकते हैं । करेला एक महत्वपूर्ण सब्जी है जिसकी खेती बारिश के मौसम में की जा सकती है, दोमट मिट्टी में इसका उत्पादन अच्छा होता है, मात्र 600 ग्राम बीज में एक एकड़ जमीन में करेले की खेती की जा सकती है, वहीं अगर पौधशाला तैयार करके रोपाई करनी हो तो बीजों की जरूरत कम पड़ती है, करेला (Bitter Gourd) की प्रमुख किस्म में पूसा विशेष, पूसा हाइब्रिड, अर्क हरित, पंजाब करेला प्रमुख हैं ।

इस वक्त भिंडी की खेती करके भी किसान ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं, भिंडी ( Lady Finger ) में जल निकासी वाली मिट्टी में अच्छा उत्पादन मिलता है, बाजार में लाल भिंडी की डिमांड बहुत रहती है तो किसान उसकी भी खेती कर सकते है, भिंडी की उन्नत किस्म में पूसा मखमली, पूसा A-4,पूसा सावनी, वर्षा उपहार, अरका अभय सहित हिसार उन्नत आदि प्रमुख किस्में हैं । इस मौसम में मूली की भी खेती से अच्छा मुनाफा कमाया जा सकता है, मूली के पत्तों से लेकर उसके तने तक का उपयोग सब्जी बनाने में होता है इतना ही नहीं मूली के पराठे भी बहुत पसंद किए जाते हैं ऐसी स्थिति में कुछ उन्नत किस्म की खेती किसान कर सकते हैं जिसमे पूसा हिमानी, जापानी सफेद, पूसा रेशमी सहित रैपिड रेड व्हाइट किस्में शामिल हैं । इन सभी तरह की सब्जियों की खेती के लिए जैविक खाद के साथ साथ गोबर की खाद का भी प्रयोग कर सकते हैं

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments