Monday, May 20, 2024
होमNewsचौथे चरण का रण, किसके पाले में जाएंगी यह तीन सीटें?

चौथे चरण का रण, किसके पाले में जाएंगी यह तीन सीटें?

Fourth Phase Election: लोकसभा आम चुनाव का दौर चल रहा है ऐसे में तीन चरणों के मतदान संपन्न हो चुके है और चौथे चरण का मतदान आगामी 13 मई को होना है जिसमें उत्तर प्रदेश की 13 सीटें भी शामिल हैं। चौथे चरण (Fourth Phase Election) के लिहाज से उत्तर प्रदेश एक अहम राज्य है क्योंकि जहां पिछले चुनाव में बीजेपी ने इन सभी तेरह सीटों पर जीत हासिल की थी तो वही इस बार बीजेपी को कड़ी टक्कर मिलने के कयास लगाए जा रहे है, गठबंधन ने इन सीटों पर जिस प्रकार से उम्मीदवार उतारे हैं उसके हिसाब से बीजेपी का इन सीटों पर एक बार फिर से वापसी करना सवाल बन गया है !

चौथे चरण (Fourth Phase Election) में यूपी की इन 13 सीटों पर मतदान

उन्नाव, अकबरपुर, शाहजहांपुर, फर्रुखाबाद, लखीमपुर खीरी, कानपुर, धौरहरा, बहराइच, हरदोई, कन्नौज, सीतापुर, मिश्रिख और इटावा ।

 हरदोई, सीतापुर और उन्नाव में फिर से खिलेगा कमल?

 लोकसभा चुनाव 2019 का परिणाम

हरदोई की बात करें तो यहां से 2019 में बीजेपी के जयप्रकाश रावत और समाजवादी पार्टी की ऊषा वर्मा के बीच मुकाबला हुआ था। इस चुनाव में सपा और बसपा के बीच चुनावी गठबंधन था जयप्रकाश रावत ने एक लाख बत्तीस हजार 474 वोटो के अंतर से यह चुनाव अपने नाम किया था।

2019 के लोकसभा चुनाव में सीतापुर सीट के परिणाम को देखें तो तब यहां बीजेपी के राजेश वर्मा ने बसपा प्रत्याशी नकुल दुबे को करीब 1 लाख मतों से हराया था, वहीं पूर्व सांसद और कांग्रेस के टिकट पर लड़ रही कैसर जहाँ तीसरे स्थान पर थी,देश की सबसे अधिक मतदाताओं वाली संसदीय सीटों में से एक, उन्नाव सीट पर 2019 में भाजपा के स्वामी साक्षी महाराज और समाजवादी पार्टी के अरुण शंकर शुक्ला के बीच मुकाबला हुआ था और साक्षी महाराज ने चार लाख 956 वोटों के अंतर से बड़ी जीत हासिल की थी!

मौजूदा प्रत्याशी

मौजूदा चुनाव में इन सीटों पर उम्मीदवारों की बात करें तो हरदोई से बीजेपी ने एक बार फिर से जयप्रकाश रावत पर भरोसा जताया है, बसपा ने भीमराव अंबेडकर को चुनावी मैदान में उतारा है ऐसे में हरदोई लोकसभा सीट पर समाजवादी पार्टी ने ऊषा वर्मा पर एक बार फिर से दॉव लगाया है, सीतापुर से राजेश वर्मा को भाजपा ने एक बार फिर मोर्चे पर उतारा है तो कांग्रेस ने पूर्व विधायक राकेश राठौर और बसपा ने पूर्व विधायक महेंद्र सिंह यादव पर भरोसा जताया है।

उन्नाव सीट के उम्मीदवारों की बात करें तो उन्नाव में बीजेपी ने साक्षी महाराज को एक बार फिर से अपना उम्मीदवार बनाया है, साक्षी महाराज इस सीट से 2014 और 2019 में दो बार जीत दर्ज चुके हैं सपा ने अनु टण्डन और बीएसपी ने अशोक पाण्डेय को टिकट दिया है!

सियासी समीकरण

Fourth Phase Election: इन सीटों पर मौजूदा सियासी समीकरण की बात करें तो तीनों ही सीटों पर फिलहाल बीजेपी काबिज़ है हरदोई में बीजेपी इस बार हैट्रिक लगाने की मूड में है यह संसदीय सीट अनुसूचित जाति के लिए रिजर्व है यहां पर पासी बिरादरी के वोटर चुनाव में अहम भूमिका निभाते हैं इनके अलावा कुर्मी, गड़रिया और यादव बिरादरी भी अच्छी संख्या में है, हरदोई में फिलहाल नरेश अग्रवाल और उनके परिवार का भी अपना अलग रसूख़ है और अब नरेश अग्रवाल भाजपा के साथ हैं और उनके बेटे नितिन अग्रवाल योगी सरकार में मंत्री हैं, वहीं सीतापुर सीट पर कुर्मी वोटर का दबदबा है यहाँ पर मुस्लिम और ब्राह्मण वोटर भी चुनाव में बड़ी भूमिका निभाते हैं।

सीतापुर सीट पर पिछड़े वर्ग के वोटर की संख्या अधिक है इस सीट मुस्लिम वोटर की संख्या लगभग 21 फीसदी है, इनके अलावा 28 फीसदी एससी-एसटी मतदाता हैं इस क्षेत्र में सवर्ण मतदाताओं की संख्या लगभग 23 फीसदी है, उन्नाव की बात करें तो यहां पर लोधी वोटर की संख्या अधिक है लगातार दो जीत के बाद अब बीजेपी उम्मीदवार साक्षी महाराज की नजर जीत की हैट्रिक पर टिकी हुई है, अब देखना होगा कि विपक्ष भाजपा को रोकनें में किस हद तक कामयाब होती है या इन सीटों पर फिर से कमल खिलेगा ।

Fourth Phase Election का रण, किसके पाले में जाएंगी यह तीन सीटें? – Tweet This?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments