Monday, May 20, 2024
होमAgricultureफलो की रानी (Mangosteen) जिसे Britain की महारानी करती थी पसंद

फलो की रानी (Mangosteen) जिसे Britain की महारानी करती थी पसंद

फलो का राजा आम होता है ऐसी स्थिति में आपके जहन में ये सवाल उठ सकता है की फलो की रानी कौन ?

आज हम आपको बताते है फलो की रानी के बारे में ये रानी विदेशी है लेकिन शुगर के मरीजों के लिए बहुत काम की है हम बात कर रहे है ‘मैंगोस्टीन’ (Mangosteen) की , फलो की रानी ‘मैंगोस्टीन’ (Mangosteen) मलेशिया और सिंगापुर में सबसे ज्यादा पायी जाता है। आप जानकर हैरान हो जाएंगे कि मैंगोस्टीन थाईलैंड का नेशनल फ्रूट है। इस फल का वैज्ञानिक नाम गार्सीनिया मैंगोस्टाना (Garcinia Mangostana) है। मैंगोस्टीन (Mangosteen) नाम का फल सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होता है, ब्रिटेन की रानी को यह फल बहुत पसंद था।

यह भी पढ़ें: किडनी (Kidney) को स्वस्थ कैसे रखे

शरीर के लिए है फायदेमंद

एक वक्त तो ऐसा भी था जब अमेरिका में इस फल को बैन कर दिया गया था क्योंकि इसके जरिए देश में एशियान फ्लाय यानी मक्खियां आने लगी थीं। लेकिन इस बैन को साल 2007 में हटा दिया गया था, इस फल में एंटीऑक्सिडेंट भारी मात्रा में होते हैं इस वजह से ये कैंसर, दिल की बीमारी के खतरे को कम करता है वहीं सर्दी-जुकाम को खत्म करने में भी कारगर है।

सबसे बड़ी बात की जहा आम शुगर के मरीजों के लिए नुकसानदायक बताया जाता है वही मैंगोस्टीन में विटामिन सी भी भारी मात्रा में होता है जो शुगर मरीज के लिए फायदेमंद है ये फल महिलाओं में अनियमित पीरियड की समस्या को भी खत्म करने में मदद करता है।

‘मैंगोस्टीन’ (Mangosteen) की खेती कैसे करे

‘मैंगोस्टीन’ (Mangosteen) अभी इंडिया में केरल की फल मणि मानी जाती है, इसकी उपज के लिए जलवायु सहित मिट्टी का भी परीक्षण जरुरी है। मैंगोस्टीन पौधों की उपज के लिए सही मिट्टी का चयन करना बेहद जरूरी है ,रेतीली, दोमट मिट्टी मैंगस्टीन की उपज के लिए बेहतर होती है।

ध्यान रखें कि इस तरह की मिटटी में कार्बनिक पदार्थां का अधिक होना जरूरी होता है. अच्छी उपज के लिए मिटटी के पीएच वैल्यू का भी ध्यान रखना होता है , इसको ज्यादा देख रेख की जरुरत होती है इसलिए किसान इसकी जटिलताओं से बचना चाहते है।

नर्सरी से लाकर लगाएं पौधे

वैसे आप बीज रोपण भी कर सकते है लेकिन बीज का अच्छा होना बहुत जरुरी है क्योकि बाजार ने ख़राब या डुप्लीकेट बीजों का चलन आम हो गया है इसलिए इससे उपज अच्छी नहीं हो पाती है, बीजों को लेकर जरा भी संशय है।

इसलिए आपको नर्सरी से पौधा खरीदकर लगाना चाहिए, 12 इंच तक ऊंचा होने में पौधे को दो साल लग जाते हैं यही उपयुक्त समय होता है पौधों को नर्सरी से लाकर खेत में लगाने का, 7 से 8 साल बाद मैंगस्टीन फल देना शुरू करता है, मैंगस्टीन पहली बार फल जुलाई से अक्टूबर महीने में आ जाता है।
इस फल की डिमांड बहुत है इसलिए इसकी खेती से किसान अच्छा मुनाफा कमा सकते है।

फलो की रानी (Mangosteen) जिसे Britain की महारानी करती थी पसंद – Tweet This?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments