होमसमाचारसदन में आम आदमी की आवाज बनेंगे राहुल गाँधी

सदन में आम आदमी की आवाज बनेंगे राहुल गाँधी

Opposition Leader Rahul Gandhi: देश में हाल ही में संपन्न हुए लोकसभा चुनाव में जहां एक तरफ देश की जनता ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) को बहुमत दिया, जिसमें सबसे बड़ी पार्टी के रूप में भारतीय जनता पार्टी को 240 सीटें मिली और सहयोगी दलों को मिलाकर एनडीए कुल 293 सीटें जीतने में सफल रही।

loksabha election

तो वही विपक्षी INDIA ब्लॉक ने भी चुनाव में पूरी ताकत लगा रखी थी, जिसके फल स्वरुप INDIA ब्लॉक को भी 234 सीटें हासिल हुई और इस गठबंधन में कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी के रूप में 99 सीटों पर जीत दर्ज करने के साथ ही विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी रही, कांग्रेस पार्टी विपक्ष का नेता भी बनाने में असफल रही थी।

यह भी पढ़ें –100 वर्ष तक स्वस्थ जीवन जीने के लिए क्या करें?

क्यों राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) को चुना गया नेता प्रतिपक्ष?

कांग्रेस ने लोकसभा चुनाव 2014 और 2019 में क्रमशः 44 और 52 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जिस कारण से कांग्रेस पार्टी विपक्ष का नेता भी बनाने में असफल रही थी।

क्योंकि लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष का पद प्राप्त करने के लिए विपक्ष की सबसे बड़ी पार्टी के सदस्यों की संख्या कुल सदस्यों की संख्या से 10 फ़ीसदी यानि की 55 सदस्य होने चाहिए जो कि कांग्रेस पार्टी के 2014 और 2019 में नहीं थे।

rahul gandhi

जिस वजह से गत दो बार से लोकसभा में नेता विपक्ष का पद भी खाली था, किंतु इस बार लोकसभा में विपक्षी सदस्यों की संख्या बढ़ी है जिससे लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष (Leader of opposition) भी होना था।

ऐसे में INDIA ब्लॉक की ओर से कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) का नाम दिया गया जिसको स्पीकर द्वारा स्वीकार कर लिया गया, इस प्रकार से 10 वर्ष बाद लोकसभा में राहुल गांधी नेता प्रतिपक्ष के रूप में पदस्थ हुए।

सदन में आम आदमी की आवाज बनेंगे राहुल गाँधी (Rahul Gandhi) – Tweet This?

हमको Whatsapp पर फॉलो करें और ताज़ा ख़बरों से हमेशा अपडेट रहें!

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments