होमसमाचार2024 मे भाजपा से क्यों नाराज हुआ राजपूत वोटर

2024 मे भाजपा से क्यों नाराज हुआ राजपूत वोटर

योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री के पद से हटाने की बात करना विपक्ष का चुनावी दाव था ,या फिर अंतर कलह की तरफ बढ़ रही है भाजपा (BJP)

आपको याद होगा की दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने जेल से निकलते ही अपनी सभा मे एक बड़ी बात कही थी, अरविंद केजरीवाल ने सभा मे ये साफ़ साफ़ कहा था की अगर लोगो ने फिर से एन डी ए को जीता दिया तो जीत के बाद बीजेपी (BJP) योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री पद से हटा देगी।

इतनी बड़ी बात केजरीवाल ने मीडिया के सामने कही ताकि चुनाव से पहले लोगो का ध्यान आकर्षित किया जा सके और ऐसा ही हुआ चुनाव से पहले केजरीवाल का ये बयान सब जगह वायरल हो गया जिसके बाद जो बीजेपी (BJP) अपने कोर वोटर राजपूत और ब्राह्मण के सहारे दो बार के चुनाव मे भारी मतो से जीत रही थी उसी बीजेपी को उत्तर प्रदेश मे राजपूतो ने वोट नहीं दिया।

केजरीवाल के बयान और कई सारे कारण के चलते गुजरात और हरियाणा के साथ-साथ उत्तर प्रदेश के राजपूतो मे आक्रोश बढ़ता चला गया, राजपूतो मे गुस्सा और उनको नज़र अंदाज़ करने वाली बाते तबसे चर्चे मे आई जब से गुजरात के राजकोट के संसद पुरषोतम रुपाला ने मीडिया से बात करते समय कुछ ऐसा कह दिया जिससे बीजेपी (BJP) के प्रति राजपूतो मे नाराजगी देखने को मिली।

जिसके बाद से ही राजपूत का वर्चस्व कम होने की बात होने लगी और 2014 से 2024 तक बीजेपी ने राजपूत के महत्व को कम कर दिया है इस तरह की बाते फैलने लगी देश मे, इन सब के चलते गुजरात के राजपूतो ने कसम खा ली थी की अगर रुपाला को टिकट नहीं मिला तो गुजरात का कोई भी राजपूत बीजेपी (BJP) को वोट नहीं देगा,हालाँकि बीजेपी ने रुपाला को टिकट दिया जिसके बाद लोकसभा इलेक्शन 2024 के चुनाव मे रुपाला ने भारी वोटो से जीत हासिल की।

बीजेपी (BJP) को उत्तर प्रदेश मे कई सारी सीटों पर हार का सामना करना पड़ा, जिसका प्रमुख कारण राजपूतो मे योगी जी को मुख्यमंत्री पद से हटाने वाली बात से गुस्सा और वही गाज़ियाबाद से उत्तरप्रदेश के राजपूतो का बड़ा चेहरा वीके सिंह को टिकट न देने के कारण और 2019 के मुताबिक राजपूतो को यू पी मे कम सीट देना, जिसके चलते राजपूतो मे आक्रोश था और राजपूतो ने बीजेपी को उनकी ताकत दिखने का फैसला किया।

जिसका परिणाम लोकसभा चुनाव के रिजल्ट्स मे देखने को मिला है ,की किस तरह हरियाणा और उत्तर प्रदेश के राजपूतो ने बीजेपी को वोट नहीं किया और इसका असर सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश की लगभग 5 सीटों पर देखने को मिला जहा भाजपा (BJP) के हर का कारण राजपूत वोटर बने , इन सब मे सबसे बड़ी बात ये सामने आई की उत्तर प्रदेश के बाहुबली नेता रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया ने बीजेपी का साथ छोड़ कर इंडिया गठबंधन को सपोर्ट किया जिसके चलते यू पी की मुख्य जगह प्रयागराज, कौसाम्बी और प्रतापगढ़ से बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा।

आपने ये मुहावरा सुना होगा की कभी कभी खुद की कही बात खुद को लग जाती है ,ऐसा ही हुआ बीजेपी के साथ चुनाव से पहले बीजेपी (BJP) विपक्ष के पीडीए के नीति को लगातार गलत साबित कर रही थी लेकिन चुनाव के परिणाम मे विपक्ष की पीडीए नीति तो काम कर गई लेकिन बीजेपी के सबसे कोर वोटर्स राजपूत ने ही बीजेपी को उत्तर प्रदेश मे वोट नहीं दिया जो साफ साफ़ ये बता रहा है की लोग बीजेपी (BJP) की नीतियों से खुश नहीं है ,इन सब मे ये बात सामने आई की लोग बीजेपी से खुश नहीं है या नरेंद्र मोदी से खुश नहीं है।

ऐसा इसलिए कहा जा रहा है की लोकसभा इलेक्शन 2024 मे शिवराज सिंह चौहान को भरी मतों से जीत मिली है लेकिन वही नरेंद्र मोदी को जीतने के लिए बहुत लड़ाई करनी पड़ी है उसके बाद भी मोदी को शिवराज की तुलना मे बहुत कम मतों से जीत मिली,जिससे लोग ये साफ़ मैसेज देना चाहते है की लोगो को बीजेपी (BJP) की नीतिया पसंद है लेकिन लोग प्रधान मंत्री के रूप मे किसी नए चेहरे को चाहते थे, इस बात का प्रमाण लोकसभा इलेक्शन 2024 मे देखने को मिला , इन सब बातो और चुनाव के रिजल्ट्स ने कही न कही बीजेपी के नेताओ मे अंतर कलह चल रहा है ऐसा भी प्रतीत होता है।

नितिन गडकरी का चुनाव प्रचार मे बहुत सक्रिय न होना भी इसका एक बड़ा कारण माना जा रहा है, इन सब मे सबसे जायदा चर्चा उत्तर प्रदेश की सीटों पर हार और योगी जी को मुख्यमंत्री पद से हटाने की बात पर चर्चा होना है , क्युकी जबसे चुनाव के रिजल्ट्स आए है तबसे ही यूपी मे हार की वजह बीजेपी (BJP) योगी जी को मान रही है।

जिसमे सबसे बड़ा सवाल है की क्या बीजेपी योगी जी को मुख्यमंत्री पद से हटाएगी और अगर बीजेपी ऐसा सोच रही है तो उनके पास क्या कारण है, जिसके चलते वो ऐसा करेंगे और क्या बीजेपी के पास मुख्यमंत्री पद ले लिए कोई दूसरा चेहरा है और बीजेपी के इस फैसले से लोग खुश होंगे और सपोर्ट करेंगे इस बात का फैसला तो बीजेपी के तरफ से इस बात की पुष्टि के बाद ही होगा।

2024 मे भाजपा से क्यों नाराज हुआ राजपूत वोटर – Tweet This?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments