Monday, May 20, 2024
होमNewsBrij Bhushan Singh के बेटे करण भूषण को भाजपा द्वारा उम्मीदवार घोषित...

Brij Bhushan Singh के बेटे करण भूषण को भाजपा द्वारा उम्मीदवार घोषित किया गया, साक्षी मलिक ने जताई चिंता

Brij Bhushan Singh के बेटे करण भूषण को भाजपा द्वारा मिला टिकट 

Brij Bhushan Singh: 2024 के लोकसभा चुनाव का पांचवा चरण सोमवार, 20 मई से शुरू होगा। कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र, जो पांच विधानसभा सीटों- पयागपुर, कैसरगंज, कटरा बाजार, कर्नलगंज और तरबगंज से बना है, में चुनाव होंगे।

2 मई 2024 को जब भाजपा और समाजवादी पार्टी ने कैसरगंज लोकसभा सीट के लिए अपने प्रत्याशियों की घोषणा की तो तनाव और कयासों का लंबा दौर आखिरकार खत्म हो गया। कैसरगंज के मौजूदा सांसद बृजभूषण शरण सिंह (Brij Bhushan Singh) के हारने की चर्चा उत्तर प्रदेश के राजनीतिक गलियारों में तब शुरू हुई जब कई पहलवानों ने उन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया।

इस बीच, जो लोग उनकी उम्मीदवारी को लेकर आशावादी थे, वे तब निराश हो गए जब भाजपा ने औपचारिक रूप से उन्हें अपनी लोकसभा सूची से हटा दिया और उनकी जगह उनके बेटे करण भूषण सिंह को मैदान में उतारने का फैसला किया। इसके तुरंत बाद, समाजवादी पार्टी ने कैसरगंज लोकसभा क्षेत्र के लिए राम भगत मिश्रा को अपना उम्मीदवार घोषित कर दिया। दिलचस्प बात यह है कि, उम्मीदवार की घोषणा करने वाली पहली पार्टी बहुजन समाज पार्टी थी, जब उन्होंने नरेन्द्र पाण्डेय को अपना लोकसभा उम्मीदवार घोषित किया, और यह घोषणा उसी दिन कर दी गई थी।

साक्षी मलिक का रुख:

ओलंपिक विजेता और पूर्व भारतीय पहलवान साक्षी मलिक ने उत्तर प्रदेश के कैसरगंज से भाजपा द्वारा पूर्व कुश्ती संघ के अध्यक्ष बृज भूषण सिंह के बेटे करण भूषण सिंह को उम्मीदवार बनाए जाने पर प्रतिक्रिया दी। यौन उत्पीड़न के मामले में आरोपी पक्ष बृज भूषण सिंह हैं।
साक्षी मलिक ने अपने सोशल मीडिया प्लेटफार्म ‘एक्स’ पर किए हुए पोस्ट में कहा है कि, “देश की बेटियाँ हार गई, बृजभूषण जीत गया। हम सबने अपना करियर दांव पे लगाया, कई दिन धूप बारिश में सड़क पर सोये। आज तक बृजभूषण को गिरफ़्तार नहीं किया गया। हम कुछ नहीं माँग रहे थे, सिर्फ़ इंसाफ़ की माँग थी। गिरफ़्तारी छोड़ो, आज उसके बेटे को टिकट देके आपने देश की करोड़ों बेटियों का हौसला तोड़ दिया है।” साक्षी मलिक ने सवाल करते हुए लिखा है की, “टिकट जाएगी तो एक ही परिवार में, क्या देश की सरकार एक आदमी के सामने इतनी कमज़ोर होती है? प्रभु श्री राम के नाम पर सिर्फ़ वोट चाहिए, उनके दिखाए मार्ग का क्या?”

पहलवानों का सड़क प्रदर्शन:

पिछले साल ओलंपिक पदक विजेता साक्षी मलिक और बजरंग पुनिया के साथ-साथ विनेश फोगट सहित कई प्रदर्शनकारियों ने छह बार के सांसद बृज भूषण शरण सिंह के खिलाफ दिल्ली की सड़कों पर प्रदर्शन किया था। इन प्रदर्शनकारियों ने उन पर भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष रहते हुए अनुचित व्यवहार और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।

बृजभूषण सिंह पर यौन उत्पीड़न के आरोप:

पिछले सप्ताह दिल्ली की एक अदालत ने श्री सिंह के उस अनुरोध को अस्वीकार कर दिया था जिसमें उन्होंने 7 सितंबर, 2022 को कथित यौन उत्पीड़न की घटना की तारीख को उनके ठिकाने से संबंधित गवाही की अतिरिक्त समीक्षा करने का अनुरोध किया था।
उन्होंने अदालत के समक्ष स्वीकार किया था कि शिकायतकर्ता पहलवान के बताये गये यौन उत्पीड़न के समय वह दिल्ली में नहीं थे।

छह बार सांसद रह चुके सिंह का क्षेत्र में राजनीतिक प्रभाव है, जिसे भाजपा भी मानती है। इसी के चलते भाजपा ने उनके बेटे को उनकी जगह चुना है। सूत्रों के अनुसार, मीडिया को बताया था, भाजपा के शीर्ष नेताओं ने उनसे इस मामले पर चर्चा की थी, लेकिन शक्तिशाली विधायक अभी भी चुनाव की अनुमति मांग रहे हैं। उनके सबसे बड़े बेटे प्रतीक भूषण सिंह विधायक हैं। करण उत्तर प्रदेश में कुश्ती संगठन के वर्तमान प्रमुख हैं।

जश्न का माहौल:

इस बीच, भाजपा द्वारा उनके बेटे को इस सीट से उम्मीदवार घोषित किए जाने के बाद सांसद के घर में जश्न का माहौल है। करण भूषण सिंह ने कहा, “मैं पार्टी नेतृत्व और जनता का आभारी हूं कि उन्होंने मुझे यहां लोगों की सेवा करने का मौका दिया।” बृज भूषण सिंह ने कहा, “मैं पार्टी से बड़ा नहीं हूं… मैं पार्टी के फैसले का स्वागत करता हूं।”

Brij Bhushan Singh के बेटे करण भूषण को भाजपा द्वारा उम्मीदवार घोषित किया गया, साक्षी मलिक ने जताई चिंता – Tweet This?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments