होमसमाचारसूर्य कुमार यादव ने टी20 विश्व जीतने के बाद बताया कि भारतीय...

सूर्य कुमार यादव ने टी20 विश्व जीतने के बाद बताया कि भारतीय टीम ने कैसे मनाया जश्न

T20: 2024 टी20 वर्ल्ड कप में भारत की जीत का जश्न फैंस अभी तक मना रहे हैं वहीं बारबाडोस में मौजूद भारतीय टीम के सभी खिलाड़ी भी खुशियां मनाते नजर आ रहे हैं। इस बीच टीम इंडिया के दिग्गज बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव ने द इंडियन एक्सप्रेस को दिए इंटरव्यू में बताया कि टी20 विश्व कप जीतने के बाद किस खिलाड़ी ने सबसे ज्यादा जश्न मनाया। साथ ही उन्होंने रोहित शर्मा का वह विशेष वाक्य भी बताया, जो उन्होंने फाइनल मुकाबले से पहले टीम को कहा था।

कैसे मनाया गया जश्न?

सूर्या ने कहा, “डांस करते वक्त किसी के पैर नहीं रुके। सभी ने जमकर डांस किया, जो फ्रेश थे उन्हें ज्यादा नाचना था लेकिन जो थके हुए थे उन्हें कुछ आराम करने की अनुमति दी गई थी। हम जानते थे कि ऐसे क्षण अक्सर नहीं आते हैं। साथ ही हम जानते थे कि हम इस प्रारूप में भारत के लिए कुछ शीर्ष खिलाड़ियों को खेलते हुए नहीं देख पाएंगे। हम अब ड्रेसिंग रूम साझा नहीं करेंगे। इसलिए हमने मौके को जाने नहीं दिया।”

दक्षिण अफ्रीका से भिड़ने से पहले कैसा था महौल?

उनसे अगला सवाल पूछा जाने पर कि क्या फाइनल से पहले का माहौल 2023 वनडे विश्व कप से बेहतर था? तब सूर्या ने कहा, “हम जिस तरह से भारत में खेल रहे थे, फाइनल से एक दिन पहले हमने सोचा कि हमें मैदान पर जाकर ट्रॉफी उठानी है। पर यह विश्व कप हमारे लिए सीखने का अनुभव था और हमने अपनी गलतियों को सुधार लिया। 2023 में हम बहुत कुछ सोच रहे थे जो हमने इस बार नहीं किया और देखो काम हो गया। इस टूर्नामेंट की शुरुआत से पहले हमने फैसला किया कि हम इस बारे में बात नहीं करेंगे कि टूर्नामेंट में आगे क्या होगा। किसी ने भी सुपर 8 के बारे में नहीं सोचा था और बारबाडोस में फाइनल के लिए भी नहीं सोचा था। हमारा मन वहीं होना चाहिए जहां हमारे पैर हैं (जमीन पर)। यही हमारा आदर्श वाक्य था।”

फाइनल से पहले कप्तान का संदेश

सूर्या ने कहा, “फाइनल से पहले रोहित ने हमें इसे सरल रखने के लिए कहा था, ‘मैं अकेले इस पहाड़ पर नहीं चढ़ सकता। अगर मुझे पीक पर पहुंचना है, तो मुझे सभी के ऑक्सीजन की आवश्यकता होगी।’ मैंने पिछले चार-पांच साल में काफी क्रिकेट खेली है, फिर चाहे वह आईपीएल हो या अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट। रोहित खिलाड़ियों से जुड़ते हैं। मैदान के बाहर, चाहे वह होटल के कमरे में हो, या समुद्र तट पर, वह हर किसी के साथ जुड़ते हैं। इसलिए जब मुश्किल स्थिति आती है तो खिलाड़ियों को पता होता है कि वह हमारा समर्थन करेंगे।”

सूर्या ने राहुल द्रविड़ को लेकर कही ये बात

सूर्या ने कहा, “टूर्नामेंट से पहले द्रविड़ ने पूरी भारतीय टीम द्वारा खेले गए टी20 मैचों की संख्या का एक ग्राफ दिखाया। विराट भाई से यशस्वी जायसवाल तक, ग्राफ की संख्या 800 से अधिक थी और फिर उन्होंने एक दूसरी स्लाइड दिखाई जिसमें द्रविड़ भाई सहित पूरे कोचिंग स्टाफ ने जितने मैच खेले थे। वह संख्या 1 थी। उन्होंने हमसे कहा, ‘आप सही समय पर सही निर्णय लेने के लिए यहां सबसे अच्छे न्यायाधीश हैं। इसलिए बाकी सब चीजें हम पर छोड़ दो, मैदान पर जाओ और अपने खेल का मजा लो।’ यह सकारात्मकता फैलाता है। इस बार उन्होंने कई वैकल्पिक अभ्यास सत्र रखे लेकिन यह पहली बार था जब सभी वैकल्पिक अभ्यास सत्र के लिए आना चाहते थे। हर कोई एक-दूसरे के साथ समय बिताना चाहता था। एक बार उन्होंने ग्रुप पर संदेश दिया कि वह बीच पर जा रहे हैं और सभी 15 खिलाड़ी वहां मौजूद हैं। इस बार एक अलग ही माहौल था।”

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments