होमशिक्षानीट के 26 जून को होने वाले एग्जाम से मेरिट पर असर...

नीट के 26 जून को होने वाले एग्जाम से मेरिट पर असर पड़ेगा ?

26 जून को नीट एग्जाम (NEET Exam) में ग्रेस मार्क पाने वाले स्टूडेंट्स का दोबारा से एग्जाम होना है, अब यहाँ सबसे बड़ा कन्फ्यूजन यह है की इन 1563 लोगो के एग्जाम से मेरिट पर असर पड़ेगा।

आईये आपको विस्तारपूर्वक बताते है, 4 जून को नीट एग्जाम (NEET Exam) के नतीजे आये जो दरअसल 14 जून को आने थे, यही से एक विवाद जन्म लेता है नीट का एग्जाम (NEET Exam) आयोजित करने वाले संसथान NTA और अभ्यर्थियों के बिच, जहाँ अभ्यर्थियों ने इसे चुनाव परिणाम के बिच अपने भ्रस्टाचार को छुपाने का तरीका बताया वही NTA ने इसे एडमिशन प्रक्रिया में देरी को कम किया जा सके इसको मुख्य वजह बताया।

क्या दुबारा नीट एग्जाम (NEET Exam) से मेरिट पर असर पड़ेगा?

NEET Exam

विवाद तब और बढ़ गया जब NEET Exam में 67 स्टूडेंट्स ने परफेक्ट स्कोर (720) प्राप्त कर लिया और नहीं तो 1563 ऐसे बच्चे जिनको ग्रेस मार्क्स दिए गए जिसकी वजह से 6 बच्चो ने परफेक्ट स्कोर प्राप्त कर लिया। ग्रेस मार्क्स देने का NTA का तरीका लोगो को समझ में नहीं आया और इसका विरोध बढ़ता देखकर NTA ने इन सभी अभ्यर्थियों का ग्रेस मार्क्स रद्द कर दिया।

इससे यहाँ दो तरह की स्थिति पैदा हो गई एक अगर कोई स्टूडनेटस बिना ग्रेस मार्क्स के काउंसलिंग के लिए जाना चाहे तो जा सकता है उसको 24 जून को होने वाले NEET Exam में सम्मिलित होने की जरुरत नहीं लेकिन अगर कोई स्टूडेंट्स दोबारा एग्जाम देना चाहता है तो दे भी सकता है।

इन दोनों ही परिस्थितियों में मेरिट पर असर पड़ेगा। अब नई रैंकिंग जिसमें नये मार्क्स जुड़े होंगे, के आधार पर रैंक रिलीज होने की संभावना है, इससे कुल 67 टॉपर्स का मुद्दा भी हल होगा और 718 और 719 अंक पाने वाले कैंडिडेट्स का मुद्दा भी और एक ही सेंटर से कई स्टूडेंट्स के टोपर होने का भी मसला हल होगा।

जो फिर से नहीं देना चाहते परीक्षा

neet exam supreme court

सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई में ये भी कहा कै कि जो स्टूडेंट्स फिर से NEET Exam नहीं देना चाहते, वे अपना यही स्कोर मान्य कर सकते हैं लेकिन इनके ग्रेस मार्क्स हटा दिए जाएंगे, ग्रेस मार्क्स हटाने के बाद जो अंक बचेंगे वे ही फाइनल नंबर माने जायेंगे।

ऐसी स्थिति में वे दोबारा NEET Exam न देने का चुनाव कर सकते हैं, ये भी जान लें कि फिर से हो रही परीक्षा में कोई भी स्टूडेंट्स नहीं बैठ सकता केवल वे स्टूडेंट्स बैठ सकते हैं जिन्हें ग्रेस मार्क्स मिले थे।

एक मत्वपूर्ण बात यह भी है की सुप्रीम कोर्ट ने काउंसलिंग पर रोक लगाने से मना कर दिया है, मतलब काउंसलिंग में किसी भी तरह का कोई बदलाव नहीं किया गया है।

नीट के 26 जून को होने वाले एग्जाम से मेरिट पर असर पड़ेगा – Tweet This?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments