Monday, May 20, 2024
होमNewsकन्नौज से अखिलेश के बाद अमेठी-रायबरेली का रुख करेंगे राहुल गांधी ?

कन्नौज से अखिलेश के बाद अमेठी-रायबरेली का रुख करेंगे राहुल गांधी ?

उत्तर प्रदेश की कन्नौज लोकसभा सीट सैफई परिवार के कब्जे वाली सीट रही है और यहां पर लंबे समय तक समाजवादी पार्टी का कब्जा रहा है!किंतु 2019 में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव को इस सीट पर बीजेपी के सुब्रत पाठक के हाथों पर पराजय का सामना करना पड़ा था!
समाजवादी पार्टी ने दो दिन पूर्व ही इस सीट पर सैफई परिवार के सदस्य और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के दामाद तेज प्रताप यादव को टिकट दिया था किंतु बुधवार को ही अचानक यह खबर आई कि अब इस सीट से तेज प्रताप नहीं बल्कि स्वयं सपाध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव लड़ेंगे और आज ही अखिलेश ने इस सीट से अपना नामांकन पत्र भी दाखिल कर दिया है!
विदित हो कि अखिलेश यादव पूर्वांचल के आजमगढ़ सीट से 2019 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी के दिनेश लाल यादव “निरहुआ” को मात देकर दिल्ली पहुंचे थे फिर साल 2022 के विधानसभा चुनाव में अखिलेश ने दिल्ली से लखनऊ वापस आने का मन बनाकर करहल विधानसभा से चुनाव लड़कर जीत दर्ज की और चुनाव जीत कर उत्तर प्रदेश की विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष की जिम्मेदारी संभाल रहे हैं!किंतु अखिलेश के हालिया ऐलान से स्पष्ट होता है कि उन्होंने दिल्ली जाने का मन बना लिया है खैर यह तो 4 जून को ही स्पष्ट हो पाएगा!
अब बात करते हैं कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और सांसद राहुल गांधी की जो की 2019 के लोकसभा चुनाव दो सीटों से चुनाव मैदान में थे उत्तर प्रदेश के अमेठी और केरल की वायनाड सीट से चुनाव लड़ने वाले राहुल को वायनाड से जीत तो वहीं अमेठी से हार का सामना करना पड़ा था अब राहुल ने फिर एक बार 2024 के लोकसभा चुनाव में केरल की वायनाड सीट से चुनाव मैदान में है तो वहीं भाजपा नेत्री,केंद्रीय मंत्री व 2019 चुनाव में उनको पराजित करने वाली उनकी चिर प्रतिद्वंद्वी स्मृति ईरानी ने उनके ऊपर कई आरोप लगाए और कहा कि अमेठी को परिवार कहने वाले राहुल परिवार को छोड़कर वायनाड चले गए बताते चले कि वायनाड में 26 अप्रैल को दूसरे चरण में मतदान होना है अब देखना यह है कि क्या अखिलेश यादव की तरह ही राहुल गांधी भी अचानक अमेठी से नामांकन कर सकते हैं क्या? खैर यह तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन जिस तरह से अमेठी के गेस्ट हाउस की रंगाई-पुताई चल रही है उससे कयास लगाए जा रहे हैं कि 26 अप्रैल को वायनाड में मतदान के पश्चात कांग्रेस आलाकमान अमेठी और रायबरेली को लेकर भी कोई घोषणा कर सकता है!

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments