Wednesday, May 29, 2024
होमNewsउत्तराखंड के जंगलों में लगी आग, अप्रैल में रोज 25 हेक्टेयर की...

उत्तराखंड के जंगलों में लगी आग, अप्रैल में रोज 25 हेक्टेयर की औसत से जले देवभूमि के जंगल

गर्मियों के साथ आग की आपातकालीन स्थिति नैनीताल के जंगलों में है। वायु सेना के हेलीकॉप्टर का प्रयोग आग को बुझाने के लिए किया जा रहा है । पाइंस की आग हाईकोर्ट के आवासीय परिसर तक पहुंच गई थी, जिस पर काबू पा लिया गया है।

पिछले एक हफ्ते में नैनीताल के जंगलों में 225 आग लगने की घटनाएं हुईं, जिससे 288 हेक्टेयर वन संपदा को नुकसान पहुंचा है। बागेश्वर में आग ने काफलीगैर मैग्नेसाइट फैक्टरी के माइंस कार्यालय को चपेट में ले लिया, जहां 12 कमरे, मशीनें और कंप्यूटर जल गए। कुमाऊं में नैनीताल और चंपावत जिला वनाधिकारियों के अनुसार वनाग्नि की दृष्टि से बेहद संवेदनशील है।

पिछले 24 घंटे में प्रदेश भर में जंगलों में 23 जगहों पर आग लगी है। कुमाऊं में 16 जगहों पर वनाग्नि की घटनाएं हुईं। इससे करीब 35 हेक्टेयर जंगल को नुकसान पहुंचा है। यह स्थिति वनाधिकारियों के लिए चिंताजनक है।

नैनीताल जिले में जंगल की आग को नियंत्रित करने के लिए एयरफोर्स के हेलीकॉप्टर का उपयोग किया जा रहा है। ये हेलीकॉप्टर भीमताल झील से पानी लेकर नैनीताल और पास के वनाग्नि वाले क्षेत्रों में पानी छिड़क रहा है।

नैनीताल जिले में जंगल की आग को रोकने के लिए हेलीकॉप्टर के साथ आर्मी भी आई है। 10 बार हेलीकॉप्टर ने भीमताल झील से पानी भरकर जंगलों में लगी आग को शांत किया है। यह अग्नि नैनीताल के हाईकोर्ट के आवासीय परिसर तक पहुंच गई थी। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने इस मुद्दे पर अधिकारियों के साथ बैठक की है।

वन अधिकारियों और कर्मचारियों के अवकाश पर रोक लगाने के निर्देश दिए गए हैं। शनिवार को अल्मोड़ा में जंगल की आग कैंट क्षेत्र के आवासीय भवनों के करीब पहुंच गई। दमकल कर्मियों ने एक घंटे की मशक्कत के बाद आग को बुझाया।

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments