Wednesday, May 29, 2024
होमEducationPhD वाले भी रेलवे में चपरासी की नौकरी के लिए फॉर्म भर...

PhD वाले भी रेलवे में चपरासी की नौकरी के लिए फॉर्म भर रहे हैं

पूर्व आरबीआई गवर्नर रघुराम राजन ने देश की बेरोजगारी पर चिंता जताते हुए कहा की हमें चीन से सीखना चाहिए, आज देश की स्थिति ऐसी हो गई है की PhD करने के बाद भी लोग चपरासी का फॉर्म भर रहे हैं, यह स्थिति देश के लिए भयावह है और हमें जल्द इसका समाधान ढूंढना चाहिए । उनका कहना है कि भारत को अपने लोगों की स्किल को सुधारने पर फोकस करना चाहिए। एक कॉन्फ्रेंस में अपने संबोधन में राजन ने कहा कि भारत को जीडीपी के सही आंकड़े बताने की जरूरत है। उन्होंने कहा, हम डेमोग्राफिक डिविडेंड के बीच में हैं लेकिन समस्या यह है कि हम इसका फायदा नहीं उठा पा रहे हैं। चीन और कोरिया जब इस स्थिति में थे तो उन्होंने इसका कहीं बेहतर तरीके से फायदा उठाया था। लेकिन हम अपने युवाओं को काम नहीं दे पा रहे हैं। सवाल उठता है कि हम कैसे रोजगार पैदा कर सकते हैं। मेरा मानना है कि हम लोगों की क्षमताओं को बढ़ाकर ऐसा कर सकते हैं। साथ ही रोजगार की प्रकृति भी बदली जा सकती है। हमें दोनों मोर्चों पर काम करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि भारत में सर्विसेज, मैन्यूफैक्चरिंग और एग्रीकल्चरल कंस्ट्रक्शन हर क्षेत्र में समस्या है। देश में बेरोजगारी की दर बहुत ज्यादा है। लेबर फोर्स पार्टिसिपेशन बहुत कम है। महिलाओं की भागीदारी तो बहुत कम है। पढ़े-लिखे लोगों में बेरोजगारी की दर ज्यादा है। सरकारी नौकरियों के लिए बहुत लोग अप्लाई करते हैं । यह समस्या सिर्फ 10 सालों से नहीं है बल्कि उससे पहले भी सरकार इस मामले में गलतियां करती रही है, एक बड़ी समस्या पलायनवाद भी है, कुछ भारतीय विदेश में कंपनी बना रहे हैं वहां पर इन्वेस्ट कर रहे हैं लेकिन अपने ही देश में स्टार्टअप करने से डर रहे हैं, सरकार को इन सभी बातों पर ध्यान देना होगा नहीं तो बहुत जल्द #GDP के साथ अन्य क्षेत्र में भी हम पिछड़ते नजर आएंगे

PhD वाले भी रेलवे में चपरासी की नौकरी के लिए फॉर्म भर रहे है – Tweet This? 

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments