Wednesday, April 17, 2024
होमEducationAgricultureAgriculture के क्षेत्र में कैसे बनाये अपना भविष्य

Agriculture के क्षेत्र में कैसे बनाये अपना भविष्य

आज के समय में कृषि (Agriculture) व इससे जुड़े क्षेत्र बहुत तेज़ी से आगे बढ़ रहे हैं. यहां तक कि लोग विदेशों से वापस लौट कर किसानी से लाखों रुपये कमा रहे हैं. पर आप सोच रहे होंगे की ऐसा करना संभव कैसे है? तो आइये जानते हैं.
क्या आप कृषि व इससे जुड़े क्षेत्र में अपना भविष्य (Career in Agriculture) बनाना चाहते हैं?

किसान सत्ता की हमेशा कोशिश रहती है की स्टूडेंट्स की ज्यादा से ज्यादा मदद हो सके खास तौर पर ग्रामीण अंचल में जीवन यापन करने वाले परिवार, ऐसे परिवार जो मार्गदर्शन से वंचित रह जाते है उनको अच्छी से अच्छी जानकारी उपलब्ध कराया जा सके,कृषि क्षेत्र में अपना भविष्य तलाश रहे छात्रों के लिए यह हमारा पहला आर्टिकल है, किसान सत्ता से लगातार ऐसी जानकारी प्राप्त करने हेतु आप इस वेबपोर्टल को सब्सक्राइब कर सकते हैं । आई अब आपको बताते हैं कि आप किन-किन क्षेत्रों में अपना भविष्य बना सकते हैं

कृषि इंजीनियरिंग (Agricultural Engineering)

कृषि इंजीनियरिंग सुनने में थोड़ा अजीब लग रहा होगा लेकिन इस क्षेत्र में अपार संभावनाएं है, क्योंकि तकनीक का इस्तेमाल करके आप अपने उतने ही जमीन में, उतनी ही लागत लगाकर ज्यादा से ज्यादा मुनाफा कमा सकते हैं, वर्तमान समय में बहुत सारी ऐसी कंपनियां है जो किस से कच्चा माल लेकर विभिन्न तरह के प्रोडक्ट बनाते हैं । ऐसी कंपनियों को एक दक्ष एग्रीकल्चर इंजीनियर की जरूरत पड़ती है, इस लिहाज से एक छात्र के तौर पर यह अच्छा विकल्प हो सकता हैअधिकांश किसान अभी भी अपने खेतों में पुरानी तकनीकों और उपकरणों के साथ काम करते हैं. इस समस्या को पूरा करने के लिए, कृषि इंजीनियरिंग कृषि गतिविधियों की दक्षता बढ़ाने के लिए कृषि उपकरण, मशीनरी और निर्माण प्रक्रियाओं को डिजाइन, निर्माण और बेहतर बनाने में मदद करती है. इस कोर्स में 5 मुख्य क्षेत्रों पर ध्यान केंद्रित किया गया है जिसमें कृषि उपकरण, ग्रामीण संरचनाएं, मृदा संरक्षण, जल निकासी और सिंचाई और ग्रामीण बिजली शामिल हैं.
कृषि इंजीनियरिंग के लिए शीर्ष संस्थान (Top Institute for Agricultural Engineering)

  • भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, खड़गपुर
  • आनंद कृषि विश्वविद्यालय, गुजरात
  • इंदिरा गांधी कृषि विश्वविद्यालय, छत्तीसगढ़
  • महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ, पुणे
  • आचार्य एनजी रंगा कृषि विश्वविद्यालय, हैदराबाद
  • कृषि इंजीनियरिंग में करियर के अवसर (Career Opportunities in Agricultural Engineering)

एक कृषि स्टूडेंट के रूप में, आप विभिन्न निजी और सरकारी संगठनों को खरीदी जाने वाली मशीनरी, खेतों की संरचना पर परामर्श सेवाएं प्रदान कर सकते हैं और पारंपरिक पद्धति और तकनीकों के विकल्प सुझा सकते हैं. कृषि मशीनरी बनाने वाली कंपनियों में, आप डिजाइन, अनुसंधान और विकास, रखरखाव आदि जैसे विभिन्न विभागों के तहत काम कर सकते हैं.

बागवानी (Horticulture)

बागवानी एक अच्छा विकल्प है, अगर आप प्रकृति के नजदीक रहकर अपने भविष्य को सुरक्षित करना चाहते हैं तो बागवानी से संबंधित कोर्स कर सकते है । बागवानी फलों, सब्जियों, जड़ी-बूटियों, सजावटी पेड़ों और सजावटी फूलों को उगाने और उगाने का विज्ञान है. बागवानों का उद्देश्य अपनी उपज की गुणवत्ता, वृद्धि, पोषण मूल्य और उपज में सुधार करना है. वे नर्सरी, ग्रीनहाउस, बागों और वृक्षारोपण आदि को बनाए रखने के लिए भी काम करते हैं.

बागवानी के लिए शीर्ष संस्थान (Top Institute for Horticulture)

  • तमिलनाडु कृषि विश्वविद्यालय, कोयंबटूर
  • आचार्य एनजी रंगा कृषि विश्वविद्यालय, हैदराबाद
  • पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, लुधियाना
  • गोविंद बल्लभ पंत कृषि और प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, पंतनगर
  • महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ, पुणे

बागवानी में करियर के अवसर (Career Opportunities in Horticulture)

इस क्षेत्र में डिग्री के साथ, आप फ्लोरीकल्चरिस्ट (फूलों की खेती), ओलेरिकल्चरिस्ट (सब्जियों की खेती), लैंडस्केपिंग (वाणिज्यिक या आवासीय उद्यानों और पार्कों की डिजाइनिंग और रखरखाव), विटीकल्चरिस्ट (अंगूर की खेती), पोमोलॉजिस्ट (फलों की खेती) जैसे करियर को अपना सकते हैं. आप बागवानी वैज्ञानिक के रूप में अनुसंधान के क्षेत्र में भी प्रवेश कर सकते हैं और खेती के नए और बेहतर तरीकों के विकास में योगदान कर सकते हैं. आप अपना खुद का बागवानी व्यवसाय या नर्सरी भी शुरू कर सकते हैं और व्यावसायिक उद्देश्यों के लिए फूल, फल, सब्जियां आदि उगा सकते हैं.

कृषि अर्थशास्त्र (Agricultural Economics)
कृषि अर्थशास्त्र एक बेहतरीन एवं रोमांचकारी क्षेत्र है, अगर आप रुझानों के ऊपर काम करना चाहते है तो यह छेत्र आपके लिए मज़ेदार होने वाला है, इसमें कृषि उद्योग के लिए अर्थशास्त्र के सिद्धांतों का अनुप्रयोग शामिल है. इस क्षेत्र के पेशेवर बाजार के रुझान की भविष्यवाणी करने, व्यापार (आयात और निर्यात) पैटर्न, उपभोक्ता वरीयताओं और कृषि वस्तुओं के उत्पादन के तरीकों की निगरानी में लगे होते हैं. वे विभिन्न कृषि उत्पादों की मांग और आपूर्ति का विश्लेषण भी करते हैं और उनकी कीमत निर्धारित करने में मदद करते हैं. आप इस क्षेत्र में विशेषज्ञता का अपना क्षेत्र चुन सकते हैं, जैसे फसल और पशुधन विज्ञान, नीति विश्लेषण, ऋण विश्लेषण, अंतर्राष्ट्रीय व्यापार, कृषि व्यवसाय आदि.

कृषि अर्थशास्त्र में करियर के अवसर (Career Opportunities in Agricultural Economics)

कृषि अर्थशास्त्र के लिए शीर्ष संस्थान (Top Institute for Agricultural Economics)

  • चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, कानपुर
  • महाराणा प्रताप कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, उदयपुर
  • भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान, नई दिल्ली

कृषि अर्थशास्त्र में करियर के अवसर (Career Opportunities in Agricultural Economics)

कृषि अर्थशास्त्रियों के लिए कैरियर की संभावनाएं कृषि बैंकों में ऋण विश्लेषक या कृषि ऋण अधिकारी के रूप में काम करने से लेकर किसानों को ऋण स्वीकृत करने तक हैं. आप पत्रिकाओं, व्यापार पत्रिकाओं या समाचार पत्रों के लिए एक लेखक के रूप में भी काम कर सकते हैं और कृषि अनुसंधान से संबंधित लेख प्रकाशित कर सकते हैं. इसके अलावा, कृषि अर्थशास्त्री कृषि बाजार के लिए रुझान की पहचान करने और भविष्यवाणियां करने के लिए कृषि डेटा और सांख्यिकी एकत्र करने और विश्लेषण करने के लिए सरकार के साथ भी काम करते हैं.

कृषि विज्ञान (Agriculture Science)
यह कृषि विज्ञान की वह शाखा है जो सबसे ज्यादा प्रचलित है और लोग इसके बारे में जानते भी है या यूँ कहे बहुत सरे लोग कृषि विज्ञानं को ही मुख्या विषय मानते है कृषि जो फसलों और मिट्टी के अध्ययन से संबंधित है. कृषि विज्ञानी ऐसे तरीके विकसित करते हैं, जो मिट्टी के उपयोग को बेहतर बनाने और फसलों के उत्पादन को बढ़ाने में मदद करते हैं. इसमें फसलों और मिट्टी से जुड़े अनुसंधान किये जाते हैं जैसे मिट्टी की उर्वरता की बहाली, अच्छे बीज बिस्तर तैयार करना, बुवाई की सही तिथियां, संरक्षण के उचित तरीके, मिट्टी की नमी का प्रबंधन और खरपतवारों और कीड़ों को नियंत्रित करने के लिए उचित तरीके शामिल हैं.

कृषि विज्ञान के लिए शीर्ष संस्थान (Top Institute for Agriculture Science)

  • महात्मा फुले कृषि विद्यापीठ, पुणे
  • तमिलनाडु कृषि विश्वविद्यालय, कोयंबटूर
  • आचार्य एनजी रंगा कृषि विश्वविद्यालय, हैदराबाद
  • पंजाब कृषि विश्वविद्यालय, लुधियाना
  • कृषि विज्ञान में करियर के अवसर (Career Opportunities in Agricultural Science)

आप पादप वैज्ञानिक या मृदा वैज्ञानिक बन सकते हैं और कृषि मंत्रालय या भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI) के अनुसंधान विभाग के साथ मिलकर मिट्टी की उर्वरता और वृक्षारोपण के लिए उपयुक्त परिस्थितियों का परीक्षण कर सकते हैं.

इन सभी कॉलेज के बारे में और प्रवेश से सम्बंधित जानकारी हम आपको अगले अंक में बताएँगे, किसान सत्ता आपके उज्जवल भविष्य की कामना करता है

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments