Wednesday, April 17, 2024
होमNewsजंतर-मंतर पर पहलवानों का कैंडललाइट मार्च; क्या पुलिस जाने देगी?

जंतर-मंतर पर पहलवानों का कैंडललाइट मार्च; क्या पुलिस जाने देगी?

जंतर-मंतर पर धरना दे रहे पहलवानों की आज शाम को इंडिया गेट पर कैंडललाइट मार्च निकालने की तैयारी है। लेकिन क्या वे ऐसा कर पाएँगे? क्या दिल्ली पुलिस उन्हें ऐसा करने देगी? पुलिस का कहना है कि इसके लिए न तो अभी तक अनुमति दी गई है और न ही इनकार किया गया है। वैसे, ये पहलवान अपनी मांगों को लेकर काफ़ी मुखर हैं और वे इसको लेकर लगातार आगे बढ़ रहे हैं। हाल के दिनों में वे अपने आंदोलन का दायरा जंतर-मंतर से बाहर भी बढ़ाने का प्रयास किया है।

पहलवानों ने पिछले हफ्ते कनॉट प्लेस में एक मार्च निकाला था। फिर जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में एक आईपीएल मैच में उतरे थे। आज इंडिया गेट पर कैंडललाइट मार्च की तैयारी है और 28 मई को जिस दिन प्रधानमंत्री नए संसद भवन का उद्घाटन करेंगे, उस दिन हरियाणा में एक बैठक और एक महिला महापंचायत की भी योजना है। पहलवानों में इसमें लोगों से बड़ी संख्या में पहुंचने की अपील की है कि वो शांतिपूर्ण तरीके से निकाले जाने वाले कैंडल मार्च में शामिल हों।

महिला पहलवानों के नेतृत्व में महीनों से चला आ रहा विरोध-प्रदर्शन इसलिए जारी है और आंदोलन का रूप ले चुका है क्योंकि देश की 7 नामी महिला पहलवानों ने भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं। उन्होंने पहले दिल्ली पुलिस से एफ़आईआर का अनुरोध किया था लेकिन उसने जाँच के नाम पर मामले को लटकाए रखा था। प्रदर्शन करने वाले पहलवानों की मांग है कि बृजभूषण शरण सिंह को कुश्ती संघ के अध्यक्ष पद से हटाकर जेल भेजा जाए।

Vinesh Phogat: Protesting India wrestlers say police assaulted them - BBC News

रिपोर्ट के अनुसार, यह पूछे जाने पर कि भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष के खिलाफ यौन उत्पीड़न का यह संघर्ष कब तक जारी रहेगा, फौगाट ने कहा, ‘हमारे लिए यह सरल और सीधा है। हम बृजभूषण की गिरफ्तारी चाहते हैं। तब तक हम नहीं हटेंगे। दूसरे, हम चाहते हैं कि डब्ल्यूएफआई में गंदगी हमेशा के लिए साफ हो जाए ताकि पहलवानों को नुकसान न उठाना पड़े।’

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments