Wednesday, May 29, 2024
होमAgriculture2024 की गर्मियों में भिंडी (LadyFinger) की खेती कैसे करें?

2024 की गर्मियों में भिंडी (LadyFinger) की खेती कैसे करें?

फरवरी में भिंडी (LadyFinger) की खेती क्यों सफल मानी जाती है

भिंडी (LadyFinger) के लिए उष्ण और नम जलवायु की जरूरत होती है। इसके बीज 20 से 25 डिग्री सेंटीग्रेड पर अच्छे लगते हैं। तापक्रम 17 डिग्री सेल्सियस से कम होने पर अंकुरण नहीं होता, भिड़ी के अंकुरण के लिए फरवरी का महीना बेहतर रहता है।

भिंडी (LadyFinger) की बुवाई कैसे होती है?

भिंडी की बुवाई के लिए एक बार गहरी जुताई करने के बाद दो बार कल्टीवेटर से हल्की जुताई करके मिट्टी को भुरभुरी कर लें. मिट्टी को भुरभुरा करने के बाद अगर आपने मिट्टी की जांच कराई है। भिंडी की आप घर पर किचन गार्डनिंग भी आसानी से कर सकते है।

भिंडी के लिए किचन गार्डनिंग महत्वपूर्ण है क्योंकि आप ताज़ी और जैविक भिंडी उगा सकते हैं, साथ ही यह पैसे बचाने और मिट्टी की गुणवत्ता सुधारने में भी मदद करता है।

आप छोटे हिस्से में भी (LadyFinger) भिंडी की रुपाई कर सकते है। आप अगर इसकी खेती बड़े पैमाने पर करते है तो आपको मिटटी की जाँच करवानी चाहिए और उसके आधार पर जिन खाद उर्वरकों जिस चीज के लिए विशेषज्ञ आपको राय देते है उसी खाद या पोषक तत्वों का प्रयोग करें। अगर आप किसी वजह से अपने खेत की मिट्टी की जांच नहीं करवा पाए हैं तो इसमें 90 किलो यूरिया और 50 डीएपी और 30 किलो एमओपी की प्रति एकड़ के हिसाब से भिंडी की खेती में प्रयोग में ला सकते है।

भिंडी (LadyFinger) की फसल से अच्छी पैदावार लेने के लिये जरूरी है कि उन्नत किस्म के बीजों का प्रयोग, अच्छी सिंचाई व्यवस्था, खाद-उर्वरकों का इस्तेमाल और फसल की देखभाल ठीक प्रकार से की जाये।

जब आप भिंडी की बीज के किश्म का निर्धारण कर ले तो मेढ़ विधि का उपयोग करके बीज की रोपाई कर ले, वैसे तो भिंडी वर्षा आधारित फसल है, इसमें अलग से सिंचाई की जरूरत नहीं होती।

फसल को पोषण और मिट्टी में नमी प्रदान करने के लिये बुवाई के 10-12 दिन बाद सिंचाई जरूर करे। सिचाई के लिए ड्रिप या फौवारा विधि का प्रयोग करे।

बुवाई के 10-15 दिनों बाद खेतों में खरपतावार उग आते हैं, जो भिंडी के पौधों को बढ़ने से रोकते हैं,इसके लिये समय-समय पर निराई गुड़ाई करते रहें।

कीट और बीमारियों की निगरानी करते रहें और इनकी रोकथाम के लिये जैविक कीटनाशकों का ही इस्तेमाल करें।
इसके लिए बुआई के 20 दिन बाद गुड़ाई करनी चाहिए, उसके बाद 15 से 20 दिन के अंतराल पर गुड़ाई करनी चाहिए और गुड़ाई के समय पौधे की जड़ों पर मिट्टी भी चढ़ा देनी चाहिए, ताकि वे पौधे भारी होने पर न गिरे।
भिंडी के बीज बोने के लगभग 30 दिन बाद से फल आना शुरू हो जाते है तथा पहली तुड़ाई 45 दिनों बाद शुरु हो जाती है।

भिंडी (LadyFinger) एक ऐसी सब्ज़ी है जो बच्चों से लेकर बुज़ुर्गों तक सबको पसंद आती है। भिंडी के फलों में पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व ( प्रोटीन 1.9 ग्राम, रेशा 1.2 ग्राम, कार्बोहाइड्रेट 6.4 ग्राम, विटामिन ए 88, आई यू, विटामिन B, विटामिन C तथा लवण) प्रति 100 ग्राम में पाए जाते हैं। गर्मियों के मौसम में मिलने वाली यह सब्ज़ी पोषक तत्वों से भरपूर होती है। इसमें विटामिन, फाइबर, एंटीऑक्सिडेंट और मिनरल्स के साथ ही कैल्शियम, पोटैशियम, मैग्नीशियम, फास्फोरस और आयरन की भरपूर मात्रा होती है।

भिंडी को अपने घर के किचन गार्डन में उगाने से, आप पूरी वर्ष उसका नियमित आपूर्ति कर सकते हैं, जो कि बाजार से खरीदे गए सब्जियों की तुलना में स्वादिष्ट और पोषण से भरपूर होती है। किचन गार्डनिंग में भिंडी को उगाने से, आप उसे अनियमितता, विषाणुओं, और कीटों से बचा सकते हैं जो बाजार में उपलब्ध सब्जियों पर पड़ सकते हैं। इसके अलावा, अपने खुद के उत्पादित सब्जियों का आनंद लेना और मिट्टी की गुणवत्ता को बेहतर बनाने में भी आपकी सहायता होगी।

गर्मियों में भिंडी (LadyFinger) की खेती कैसे करें? Tweet This?

RELATED ARTICLES

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें

- Advertisment -
Sidebar banner

Most Popular

Recent Comments